प्रकृति की गोद में स्थित देवगढ़ , यहाँ स्थित मूर्तियां आपका मनमोह लेगी

देवगढ़ ललितपुर मुख्यालय से 33 किलो मीटर दूर बेतवा नदी के किनारे स्थित है । वि स 991 के गुर्जर प्रतिहार कालीन शासक भोजदेव अभिलेख में देवगढ़ का नाम लुअच्छगिरि बताया गया है । प्रतिहारों के पश्चात यहाँ चन्देलों का शासन स्थापित हुआ । चंदेल शासक कीर्तिवर्मन के देवगढ़ अभिलेख से प्रतीत होता है की कीर्तिवर्मन के मंत्री बटसराज ने यहाँ एक दुर्ग एवं बाबड़ी का निर्माण करवाया और किले का नाम कीर्तिगिरी रखा गया ।
बेतवा के किनारे पहाड़ी पर जैन धर्म से सम्बंधित अनेक मंदिर स्थित है । जहाँ बहुत सी मूर्तियों के अवशेष हैं 19 मानस्तम्भ एवंम दीवालों पर 200 अभिलेख हैं । यहाँ पर गुप्तकालीन दशावतार मंदिर की छटा देखते ही बनती है ।
ऐसा लगता है की 11 – 12 वी सदी में इस स्थान को देवगढ़ नाम दिया गया । इस स्थान को यह नाम शायद इस लिये दिया गया क्योंकि यह स्थान बहुत सी देवमूर्तियों से परिपूर्ण है , इसलिए देवमूर्तियों के गढ़ को देवगढ़ कहा जाने लगा । कला और विशिष्टता की अनुपम शैली और ऐतिहासिक दृष्टि से यहाँ के मंदिरो का निर्माण बहुत महत्वपूर्ण है । वर्तमान में यहां 31 बड़े मंदिर , 9 छोटे मंदिर 19 मानस्तम्भ हैं जो इतिहास एवं प्राचीन संस्कृति की धरोहर है ।  पर्वत के दक्षिण दिशा की ओर दो घाटियां हैं , नाहर घाटी और राजघाटी । नाहर घाटी एक ओर पहाड़ की ऊँची दीवार को काटकर बनायी गयी है । इसी घाटी में अनेक गुफाएं , शिलालेख और देवकुलिकायें देखने को मिलती हैं ।

2,223 total views, 3 views today

About Amit Soni

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मासूम बच्चे के लापता होने के मामले में पुलिस अधीक्षक ने बच्चे की तलाश के लिये 2 टीमों को लगाया     |     शादी समारोह में महिला संगीत के दौरान नशीला पदार्थ पिलाकर महिलाओं के जेवर और पैसे चोरी करने का आरोप     |     फिर एक किसान ने फांसी लगाकर दी जान, आत्महत्त्या का कारण अज्ञात     |     दरिंदगी की शिकार लड़की की हालत गंभीर ,शादी समारोह में आयी थी लड़की     |     ग्राम हँसेरा में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में ओडी नदी पुनर्जीवन क्षेत्रीय संवाद एवं नदी मित्र गोष्ठी का आयोजन     |     ललितपुर लाइव की खबर का बड़ा असर ,SP डॉ ओ पी सिंह ने घायल दंपत्ति और मासूम को इलाज की जगह कोतवाली से भगाने के मामले में की कार्रवाई ,नई बस्ती चौकी इंचार्ज और मुंशी लाइन हाजिर     |     सामने आई पुलिस की संवेदनहीनता ,दुर्घटना में घायल पति पत्नी और मासूम का इलाज कराने की जगह 2000 की मांग का आरोप , घायल रात भर इलाज के अभाव में कोतवाली के सामने तड़पते रहे     |     यातायात पुलिस ने चेकिंग के दौरान बहुत से वाहनों के किये चालान     |     तालबेहट में एक सिर कुचला नग्न अवस्था मे शव मिलने से फैली सनसनी ,बेरहमी से हत्त्या     |     सीओ के नेतृत्व में नेहरू नगर हत्त्याकांड का आरोपी गिरफ्तार     |    

error: Content is protected !!