महरौनी में दो दिवसीय सहजनी शिक्षिका सम्मेलन हुआ शुभारंभ

 

सम्मेलन में सैकड़ों सामाजिक कार्यकर्ताओं समेत सहजनी शिक्षिकाएं रहीं मौजूद ।।

साक्षरता एवं नारिशिक्षण पर साज-बाज के साथ किया गए संगीत।।

महरौनी/ललितपुर । महरौनी नगर के मड़ावरा रोड पर स्थित बड़ोनिया मैरिज गार्डन में मंगलवार को ऐतिहासिक दो दिवसीय सहजनी शिक्षिका सम्मलेन का आयोजन शुभारंभ हुआ। जिसमें सात राज्यों से अनुभवी सहजनी शिक्षिकाओं ने सैकड़ों की तादाद में भाग लिया । और उन्होंने मंच के माध्यम से दूर-दराज एवं अलग-अलग क्षेत्रों से सम्मेलन में पहुंची सहजनी शिक्षिकाएं तथा महिलाओं को साक्षरता की और अग्रसर होने के गुण बताये । ललितपुर लाइव से बातचीत दौरान संस्था की हैड 25 बर्षीय अपेक्षा ने बताया है की ललितपुर के महरौनी में यह कार्यक्रम इसलिए रखा गया, क्योंकि जिले के महरौनी, मड़ावरा, एवं विरधा ब्लॉकों के ग्रामीण इलाकों में आदिवाशी, दलित तथा अतिपिछड़ी जाती की गरीब महिलाओं को शिक्षा से वंचित रखा गया है । महिलाओं के हक़ के साथ जवर्जस्त जातगी हो रही है । इसलिए सहजनी शिक्षिका सम्मेलन के माध्यम से सभी सहजनी शिक्षिकाओं को ट्रेंड किया जा रहा है कि ग्रामीण इलाकों में हो रहे निचले वर्ग की महिलाओं के साथ अन्याय को रोकने हेतु एक मात्र महिलाओं को साक्षर एवं शिक्षित करना ही सहजनी शिक्षिकाओं का मुख्य उद्देश्य है । बताते चले की सहजनी शिक्षा केंद्र संस्था के चौदह बर्ष के सफर ने आदिवासी एवं दलित, पिछड़ी जाति की महिलाओं को साक्षरता के साथ-साथ उन्हें अपने हक़ के आरती जागरूक बनाने में सहजनी शिक्षिकाओं का अहिम योगदान है ।

इस संबंध में कुसुम बताती है कि सहजनी शिक्षा संस्थान असहाय महिलाओं की चुनौतियों का सामना करने का साहस प्रदान करतीं है । और दूर-दराज ग्रामीण इलाकों में रहा रही आदिवासी-दलित समुदाय की अशिक्षित महिलाओ को साक्षरता से लेकर समय के साथ चल रहे वातावरण से रूबरू कराने में सहजनी शिक्षिकाओं द्वारा हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं । इसके अलावा इस सेक्टर से सम्मलेन में आयी सामाजिक उत्थान हेतु लंबे अर्से से कार्य कर रहीं तमाम कार्यकत्रियों ने मंच के माध्यम से दवे-कुचले वर्ग की महिलाओं को सजग करने हेतु विचार व्यक्त किये । साक्षरता को आगे बढ़ाने हेतु सहजनी शिक्षिकाओं ने साज-बाज के साथ संगीत प्रस्तुत किये । गौरतलब है की सहजनी शिक्षा केंद्र की शुरुआत 2003 में निरंतर दिल्ली में एक परियोजना के तहत ललितपुर जिले में की गई थी । सहजनी केंद्र 2013 से एक स्वतंत्र संस्था के रुप में कार्य कर रही है । यह संस्था जिले के तीन ब्लॉक महरौनी , मड़ावरा , विरधा में सक्रिय रूप से कार्य कर रही है । जहाँ करीब 175 गांव में दलित , आदिवाशी तथा अतिपिछडी जाती के परिवार की महिलाओं तथा किशोरियों ,बच्चों को साक्षरता और शिक्षा के माध्यम से सामाजिक उत्थान करना सहजनी शिक्षिकाओं का उद्देश्य है । और नारीवादी शिक्षण पद्धति एवं विभन्न क्षेत्रों में महिलाओं को जागरूक करना तथा बीत चुके सफर में उभरकर सामने आये मुद्दों पर परिचर्चा की गई।

रिपोर्ट – धनीराम सिंह राजपूत

379 total views, 2 views today

About Amit Soni

Check Also

मोटरसाइकिल और ट्रेक्टर की जोरदार भिड़ंत, मोटरसाइकिल सवार की मौके पर ही दर्दनाक मौत

Share this on WhatsAppमहरौनी – सिंदवाहा पठा संपर्क मार्ग पर हुए भीषण एकक्सीडेंट में मोटरसाइकिल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बार ब्लॉक के ग्राम तुर्का के मजरा कठवर में उल्टी दस्त से एक की मौत, कई बीमार     |     रास्ता भटककर बार के चंदन वन तालाब के पास पहुचे एक सुंदर चीतल की आवारा कुत्तों के हमले में मौत     |     बिजली विभाग के लाइनमैनों को सलाम ,जो हमारी सहूलियत के लिये अपनी जान जोखिम में रखकर काम करते हैं     |     सपा सरकार के दौरान शुरू हुआ इस वृद्धाश्रम में अब तक नहीं लगाया गया एक भी CCTV कैमरा     |     स्वाट टीम और सदर कोतवाली पुलिस ने नावालिग लड़कियों को बंधक बनाकर उनसे जबरन देह व्यापार कराने वाले गैंग का किया खुलासा     |     नगर पंचायत अध्यक्ष पाली पर SDM के साथ अभद्रता करने के आरोप में मुकद्दमा दर्ज, संगीन धाराओ में पाली थाने में किया गया मुकद्दमा दर्ज     |     डायट प्राचार्य के घर चोरों ने बोला धावा , सूने घर को बनाया निशाना     |     मासूम बच्चे के लापता होने के मामले में पुलिस अधीक्षक ने बच्चे की तलाश के लिये 2 टीमों को लगाया     |     शादी समारोह में महिला संगीत के दौरान नशीला पदार्थ पिलाकर महिलाओं के जेवर और पैसे चोरी करने का आरोप     |     फिर एक किसान ने फांसी लगाकर दी जान, आत्महत्त्या का कारण अज्ञात     |    

error: Content is protected !!